शोभा यात्रा के साथ जालोर महोत्सव का आगाज।

जालोर, 15 फरवरी 2016
भारतीय संस्कृति से ओत प्रोत लूर लेती महिलाएं, डांडिया की खनक के साथ नृत्य करते गैरिये, सिर पर कलश लिये बालिकाएं एवं पारम्पिक वेशभूषा में सजे धजे शहरवासी, हाथी, घोडे, उट एवं बैलगाडियो के लवाजमें के पीछे विभिन्न प्रकार की झांकिया हर किसी को अपनी ओर आकर्षित कर रही थी। यह नजारा नजर आया जालोर महोत्सव 2016 के शुभारम्भ पर निकाली गई शोभायात्रा में पर्यटन विभाग, जिला प्रशासन एवं जालोर विकास समिति के संयुक्त तत्वावधान में आयोजित जालोर महोत्सव को लेकर सोमवार को राउप्रावि हनुमानशाला स्कूल जालोर से शोभायात्रा उत्साह, उमंग एवं संस्कृति को साकार करती शोभायात्रा निकाली गई। सोमवार को विभिन्न सांस्कृतिक एवं खेलकूद सहित कई कार्यक्रम आयोजित हुए। वही मंगलवार को रनफाॅर जालोर का आयोजन किया जायेगा।
जालोर महोत्सव 2016 का आगाज प्रातः 6.30 बजे सर्वधर्म प्रार्थना के साथ हुआ। सर्वधर्म प्रार्थना में हिन्दू, मुस्लिम, सिक्ख, ईसाई, जैन एवं सिंधी समाज के धर्माचार्यो ने अपने अपने धर्म का उपदेश दिया। वही सभी धर्मो के धर्माचार्यो ने देश में अमन चैन, खुशहाली, एकता, सुख समृद्वि की कामना की। इसके बाद हनुमानशाला स्कूल से प्रातः 8.30 बजे भव्य शोभायात्रा निकाली गई। जिसमें विभिन्न स्कूलो की बालिका परम्परागत वेशभूषा में सिर पर कलश लिए मंगल गीत गाती चल रही थी। वही शोभायात्रा में सबसे आगे जालोर महोत्सव की ध्वजा लहरा रही थी। वही उसके पीछे सजे धजे हाथी, घोडे, उट एवं ईलोजी की बारात के साथ बैलगडिया शोभायात्रा की शोभा बढा रही थी। वही शोभायात्रा में एसडीएम हरफूल पंकज, जालोर विकास समिति के सचिव मोहन पाराशर, ग्रेनाईट एसोसिएशन के उपाध्यक्ष एनके जैथलिया सहित शहर के गणमान्य नागरिको ने शिरकत की। शोभायात्रा में महाराणा प्रताप, झासी की रानी, वीर वीरम देव की झांकियो से एतिहासिक गाथा जीवंत हो उठी। वही शोभायात्रा में सिरोही जिले के निचलागढ की आदिवासी गैर, जालोर के वरदाराम पोलजी माली एण्ड पार्टी, बाडमेर के सनवाडा व मोतीसरी तथा हनवन्तगढ के गैर नृतको ने आकर्षक प्रस्तृति दी, जबकि शोभायात्रा में कच्छी घोडी नृत्य, भोमा भोमी एवं हास्य कलाकार ने अपनी प्रस्तृति देकर हर किसी का दिल जीत लिया। इसके अलावा शोभायात्रा में आदर्श विद्या मंदिर के छात्रो द्वारा घोष बैण्ड की धून पर कदम ताल करते हुए चल रहे थे। शोभायात्रा में विभिन्न स्कूल एवं सरकारी झांकिया लोगो को अच्छे संदेश दे रही थी। शोभायात्रा को देखने शहरो की सड़को पर हजारो की संख्या में लोगो की भीड़ देखने को मिली। वही शहरवासियों ने शोभायात्रा का जगह जगह पारम्परिक तरीके से स्वागत किया। शोभायात्रा हनुमानशाला से प्रारम्भ होकर हरिदेव जोशी सर्किल, हाॅस्पीटल चैराहा, राजेन्द्र नगर होते हुए स्टेडियम ग्राउण्ड पहुंची। स्टेडियम ग्राउण्ड में जालोर महोत्सव का शुभारम्भ मुख्य अतिथि एसडीएम हरफूल पंकज थे। वही अन्य अतिथि के रूप में जालोर प्रधान संतोष राणा, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक रघुनाथ गर्ग, कोषाधिकारी दशरथ सोलंकी, जालोर विकास समिति के सचिव मोहन पाराशर, डिप्टी एससी एसटी सेल शैतानसिंह, उपसभापति मंजू सोलंकी, एनके जैथलिया, तहसीलदार अर्जुनदान देथा, भू अभिलेख अधिकारी ममता लहुआ, राजकीय महाविद्यालय के प्रोफेसर अर्जुनदान उज्जवल उपस्थित थे। अतिथियों ने जालोर महोत्सव का ध्वजा लहराकर महोत्सव का आगाज किया। उद्घाटन समारोह में शोभायात्रा प्रभारी बंशीलाल सोनी के निर्देशन में जालोर, सिरोही एवं बाडमेर के लोक कलाकारो ने आकर्षक गैर नृत्य जालोर व सायला की महिलाओं ने लुर नृत्य की प्रस्तुति दी। इसके अलावा सतीश एण्ड पार्टी ने धरती धोरा री….., पीआर प्रजापत ने मोरूडा ….. एवं जालोर की प्रसिद्व नृत्यागंना गजाला सिलावट ने ‘मेले में घूम आई रे…..’ पर नृत्य की प्रस्तुति देकर महोत्सव में समा बंाधा। वही बिछावडी के बालक प्रवीण चैहान ने अपने ऊट के साथ कई हैरत अंगेज करतब दिखाये। जबकि हास्य कलाकार मदन ने ‘अमलिडो अमलिडो ….’ पर नृत्य कर खूब हंसाया। समारोह से पूर्व अतिथियों का स्वागत माल्यार्पण एवं स्मृति चिन्ह देकर किया गया। मंच संचालन देवकीनंदन व्यास एवं नरपत आर्य ने किया। इस दौरान केशव व्यास, सुरेश नागर, रतन सुथार, जगदीश आर्य, मुकेश राजपुरोहित, अमन देवेन्द्र मेहता, सुरेश सोलंकी सहित अन्य व्यवस्थाओं को बनाये रखा। शुभारम्भ कार्यक्रम के बाद खेलकूद एवं सांस्कृतिक सहित विभिन्न गतिविधिया आयोजित हुईं। खेलकूद प्रतियोगिता में कब्बड्डी बालीवाॅल, संतोलिया, रस्सा कस्सी, बास्केटबाॅल एवं बैडमिन्टन का आयोजन स्टेडियम ग्राउण्ड में हुआ। जिसमें जिले की प्रतिभाओं ने अपना हुनर दिखाया। वही इन प्रतियोगिता का लुत्फ उठाने के लिए काफी संख्या में खेलप्रेमी मैदान में नजर आये। वही राजकीय महिला महाविद्यालय में युवाओं के लिए केरियर गाईडेन्स कार्यक्रम का आयोजन किया गया। जिसमें जिले के युवाओं को भारतीय प्रशासनिक सेवा सहित अन्य अधिकारियों ने टिप्स दिये। वही जालोरवासियों ने स्टेडियम प्रांगण में लगाई करीब 150 स्टाॅलो में विभिन्न प्रकार की वस्तुओं की जमकर खरीददारी की, साथ ही जालोर महोत्सव की रंगत जिलेभर में देखने को मिल रही है। जालोर महोत्सव को स्टेडियम ग्राउण्ड को दुल्हन की तरह सजाया गया है। स्टेडियम प्रांगण में लोगो की काफी भीड सैलाब की तरह उमडती नजर आ रही है। श्री सरिया देवी नवयुवक मण्डल द्वारा आमजन के लिए पानी की व्यवस्था की गई।